love shayari

Dard Bhare Alfaaz

Dard Bhare Alfaaz

शायद अब कभी लौट ना पाऊं खुशियों के बाजार में,
गम ने ऊंची बोली लगाकर खरीद लिया है मुझे…

कुछ ना बचा मेरे इन दो खाली हाथों में,
एक हाथ से किस्मत रूठ गई,
तो दूसरे हाथ से मोहब्बत छूट गई।

जिंदगी जला दी हमने जैसी जलानी थी,
अब धुंऐ पर तमाशा कैसा और राख पर बहस कैसी!!

गम यह नही की वक्त ने साथ नही दिया,
गम यह है कि जिसको वक्त दिया उसने साथ नही दिया।

टूट कर चाहना और फिर टूट जाना,
बात छोटी है मगर जान निकल जाती है।

बाद तेरे जाने के मर गई ये देह
जो ज़िंदा बचा मेरी रूह में वो था
“तेरे होने का एहसास”

याद आते हैं तो फिर टूट के याद आते हैं
गुजरे हुए लम्हे, बिछड़े हुए लोग..!🖤

कर के बेचैन फिर मेरा हाल ना पूछा
उसने नजरें फेर लीं मैंने भी सवाल ना पूछा…

हर रिश्ते में बस यही गिला है,
हमें कोई हमसा नही मिला है।

अच्छी थी कहानी मगर अधूरी रह गई,
इतनी मोहब्बत के बाद भी दूरी रह गई….🥀

Very Romantic Shayari 2022-Fillshayari

love shayari fillshayari

तेरा वजूद मेरी दुआओं में हो
मेरी हाथों की लकीरों में तू ऐसे समाये
मैं दुआ में अमीन कहूं
और तू मेरी हो जाये |

तुम्हारा मेरा साथ चाहिए
जो रिश्ता ना टूटे वो हाथ चाहिए
तुमसे जुदा होने का जो ख्याल आये
तो रुक जाये बदन से वो सास चाहिए

गिरती हुई बारिश और
बारिश में तुम तो बहाना है
तुम्हारे लबों पर गिरे जो बारिश की बूँद
उसे लबों से उठाना है

ज़िन्दगी में नहीं है डर
तेरा साथ है अगर
तू जब आये सामने
तो हो जाता है मेरा Background Blurr 😉

डर लगता है तेरे रूठ जाने से
तेरी मौजूदगी ही काफी है
जो मुझे तेरे होने का अहसास दिलाती है
कौन कहता है
दो जिस्मों का एक होना ही ज़रूरी है मोहब्बत
मोहब्बत तो अहसास से की जाती है

मेरी ज़िंदगी के हिस्से की धुल हो तुम
जो दिल में खिले वो फूल हो तुम
अब मेरे हर लम्हे में क़ुबूल हो तुम

तेरी बाहों का अहसास हो
तू मेरे पास हो
तेरी वफाओं से ऐसी खुशियां मिले मुझको
जब तू दूर हो तब भी तेरी कमी का अहसास न हो

तेरे साथ बिताया हुआ
एक एक पल मेरे लिए खास है
तू मेरी यादों के बहुत पास है
तेरे साथ जीने मरने की कस्मे खाना
बस तू साथ है तो सब साथ है

बोलो तुमसे कह दूँ
वोही जिसमे है सिर्फ मैं तू
वो जो तीन अक्षर वाला होता है
अरे वही I Love You

मेरे लबों पे बस तेरा नाम हो
मोहब्बत में ऐसा अपना काम हो
हीर राँझा की मिसाले लोग भूल जाएँ
अपनी मोहब्बत ही इतनी खास हो

मैं तेरी जान
तू है मेरा जानू
खुले आसमान के नीचे हाथ पकड़ के तेरा
देखें रोमांटिक चाँद

आसमान में छेद कर दूँ एक तारे के लिए
ज़िन्दगी आगे रख दूँ सारी तुम्हारे लिए
और आपके लिए मैं क्या कहूं
हम आपके हैं और आप हमारे लिए

तुम्हारा दिल मेरे पास हो
तुम्हारी याद मेरे साथ हो
तुम्हें चाहे हम हैं कदर
तुम न हो तब भी तुम्हारी बात हो

हम आप पर मरते हैं मर जायेंगे
तुम्हे पाने के लिए कुछ भी कर जायेंगे
चाहते तो बेइन्तेहा हैं आपको हम कि
हम आपके लिए सारी दुनिया से लड़ जायेंगे

दिल में तेरी चाहत
लबों पे तेरा नाम है
तू मोहब्बत कर या ना कर
मेरी जिंदगी तेरे नाम है

मंजिल भी तुम हो तलाश भी तुम हो,
उम्मीद भी तुम हो आस भी तुम हो,
इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो,
अहसास तुम हो प्यास भी तुम ही हो।

ये ज़ुल्फ़ अगर खुलके बिखर जाये तो अच्छा,
इस रात की तकदीर संवर जाए तो अच्छा,
जिस तरह से थोड़ी सी तेरे साथ कटी है,
बाकी भी इसी तरह गुजर जाए तो अच्छा।

सर्द हवाओं ने गालों को छुआ है,
शायद तुमने मेरा नाम लिया होगा,
दिल की धड़कन रुक सी गयी है सीने में,
शायद तुमने मुझे थाम लिया होगा।

हश्र ना पूछो मेरी धड़कनों का तुम जो
पास होती हो तो थम सी जाती हैं
और ना हो तो सुकून कहां पाती हैं

निगाहों से तेरे दिल पर पैगाम लिख दूं
तुम कहो तो अपनी रूह तेरे नाम लिख दूं.💕

दिल में है जो बात होंठों पे आने दे,
मुझे जज्बातों की लहरों में खो जाने दे,
आदी हो चुका हूँ मैं तेरी निगाहों का,
अपनी निगाहों के समंदर में डूब जाने दे।

जन्म-जन्म जो साथ निभाए,
तुम ऐसा बंधन बन जाओ,
मैं बन जाऊं प्यार भरा दिल,
तुम दिल की धड़कन बन जाओ।

लबों से छू लूँ जिस्म तेरा,
साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे,
मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

सुर्ख गुलाब सी तुम हो,
जिन्दगी के बहाव सी तुम हो,
हर कोई पढ़ने को बेकरार,
पढ़ने वाली किताब सी तुम हो।

एक पल के लिए जब तू पास आता है,
मेरा हर लम्हा ख़ास बन जाता है,
सँवरने सी लगती है ये ज़िन्दगी अपनी,
जब भी तू मेरी बाहों में मुस्कुराता है।

फ़िज़ा में महकती शाम हो तुम,
प्यार का छलकता जाम हो तुम,
सीने में छुपाये फिरते हैं तुम्हें,
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हो तुम।

रख लूं नजर में चेहरा तेरा
दिन रात इसी पे मरता रहूं..
जब तक ये सांसे चलती रहें,
मैं तुझसे मोहब्बत करता रहूं…

तेज बारिश में कभी सर्द हवाओं में रहा,
एक तेरा ज़िक्र था जो मेरी सदाओं में रहा,
कितने लोगों से मेरे गहरे रिश्ते थे मगर,
तेरा चेहरा ही सिर्फ मेरी दुआओं में रहा।

कुछ नशा तेरी बात का है,
कुछ नशा धीमी बरसात का है,
हमें तुम यूँही पागल मत समझो,
ये दिल पर असर पहली मुलाकात का है!!

तुझसे रु-ब-रु होकर बातें करूँ,
निगाहें मिलाकर वफ़ा के वादे करूँ,
थाम कर तेरा हाथ बैठ जाऊं तेरे सामने,
तेरी हसीन सूरत के नज़ारे करूँ।

इश्क़ है या इबादत
अब कुछ समझ नही आता,
एक खूबसूरत ख्याल हो तुम
जो दिल से नही जाता।

कुछ दूर मेरे साथ चलो
हम सारी कहानी कह देंगे
समझे ना तुम जिसे आँखों से
वो बात मुँह ज़बानी कह देंगे।

Download Wallpaper
Please wait while your url is generating... 3

Please click the download button to start downloading

Download full resolution image